आनन-फानन में लिया बैन का फैसला, अमेरिकी ऐप से डरा ड्रैगन, जानिए क्यों एक ऐप से परेशान हो उठा चीन

0
38

नई दिल्ली। चीन ने अमेरिकी ऐप Clubhouse को बैन कर दिया है। चीन सरकार की दलील है कि Clubhouse से जुड़ने के लिए चीनी नागरिकों को भारी-भरकम रकम चुकानी पड़ती थी, साथ ही कोड हासिल करने में दिक्कत आ रही थी। इसके चलते चीनी सरकार ने Clubhouse पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया है। चीन में छपी रिपोर्ट के मुताबिक Clubhouse के इनविटेशन कोड के लिए  108 डॉलर (करीब 7,866 रुपये) तक की रकम देनी पड़ रही है। Clubhouse एक ऑडियो बेस्ड ऐप है, जहां यूजर को रूम्स क्रिएट और ज्वाइन करने की इजाजत दी जाती है। 

कैसे काम करता है Clubhouse 

Clubhouse ऐप लाइव ऑडियो चैटरूम मुहैया कराता है। इस ऐप को तभी कोई यूजर ज्वाइन कर सकता है, अगर उसे इसके लिए किसी अन्य यूजर से इनविटेशन मिला हो। फिलहाल, Clubhose पर खुद को रजिस्टर करने के लिए चीनी यूजर्स को अमेरिकी ऐप स्टोर पर जाना पड़ रहा था। वहां अपने फोन नंबर को रजिस्टर करने के बाद ही वो इनवाइट हासिल कर सकते थे। लेकिन चीन के बाहर के यूजर्स को इसके लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। लेकिन इसका भी एक विकल्प है कि अगर Clubhouse का कोई पुराना यूजर इनवाइट भेजे,तो Clubhouse को ज्वाइन किया जा सकता है। लेकिन हर यूजर के पास केवल दो इनवाइट भेजने का विकल्प होता है। 

चीन में क्यों पॉप्युलर है Clubhouse

Clubhouse ऐप कई मामलों में खास है। ये ऐप चीनी सरकार के रडार से लंबे वक्त तक बचने में कामयाब रहा। दरअसल चीन में ताइवान की आजादी चाहने वाले, शिनजियांग प्रांत के मुसलमान और लोकतंत्र समर्थक नेताओं के बीच Clubhouse ऐप काफी पॉप्युलर था। इस ऐप पर लोग चीनी सरकार की नजर से बचकर अपनी बात स्वतंत्रता के साथ रख सकते थे, जिस पर चीनी सरकार ने प्रतिबंध लगा दिया है। चीन में Twitter और Facebook पर प्रतिबंध था। लेकिन Clubhouse पर सेंसरशिप लगाने में चीन कामयाब नहीं रहा। लोग Clubhouse के जरिए एकजुट होते थे और चीनी सरकार के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करते थे। Clubhouse ऐप कई महीन तक चीन के फ़ायरवॉल के रडार के नीचे उड़ान भरने में कामयाब रहा। इस ऐप से चीनी नागरिक बाकी दुनिया के लोगों से जुड़ सकते थे। 

Elon Musk के एक ऑडियो से बढ़े Clubhouse के यूजर्स 

Clubhouse को मार्च 2020 में iOS यूजर के लिए लॉन्च किया गया था। इसे सिलिकॉन वैली के उद्यमी पॉल डेविडसन और रोहन सेठ ने बनाया था। मई 2020 में Clubhouse के करीब 1,500 यूजर थे और इसकी कीमत 100 मिलियन डॉलर थी। हालांकि जब Elon Musk ने Clubhouse पर अपना चैटरूम खोला और Valad Tenev के सीईओ रॉबिनहुड के साथ एक ऑडियो चैट जारी किया, जिसे YouTube पर भी शेयर किया गया। इसके बाद से Club house के यूजर्स की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ। फरवरी 2021 तक Clubhouse के 2 मिलियन से ज्यादा यूजर हैं। मौजूदा वक्त में clubhouse की वैल्यू 1 बिलियन डॉलर की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here