एक्ट्रेस ने गुस्से में कहा- ‘फिल्म इंडस्ट्री ने मेरा मजाक उड़ाया, गैंग बनाकर…’, राजद्रोह मामले की सुनवाई के बाद भड़कीं कंगना रनोट

0
49

नई दिल्ली। फिल्मों के अलावा सामाजिक-राजनीतिक मुद्दों पर खुलकर बोलने वाली बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनोट अक्सर सुर्खियों में बनी रहती हैं। वह सोशल मीडिया पर भी काफी सक्रिय रहती हैं। कंगना रनोट कई मुद्दों पर खुलकर बोलती भी रहती हैं। हालांकि अपनी बयानबाजी की वजह से अभिनेत्री बहुत बार विवादों में भी आ चुकी हैं। कंगना रनोट लंबे समय से अपने एक ट्वीट की वजह से राजद्रोह का आरोप झेल रही हैं।

कंगना रनोट और उनकी बहन रंगोली चंदेल के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज है। इस मामले में बॉम्बे हाई कोर्ट में सुनवाई हुई की। इस दौरान कंगना रनोट के वकील ने कोर्ट में शपथ पत्र दायर कर अभिनेत्री और उनकी बहन के खिलाफ लगे राजद्रोह के आरोप को गलत बताया था। साथ ही मामले को खारिज करने की अपील की है। वहीं राजद्रोह मामले की सुनवाई के बार अब कंगना रनोट ने एक बार फिर से बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री और सितारों पर निशाना साधा है।

अभिनेत्री ने कहा है कि बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री ने उनका मजाक बनाया है। उनके खिलाफ केस दर्ज करने वालों को उन्होंने बर्बाद कर दिया है। कंगना रनोट ने यह बात सोशल मीडिया पर कही है। उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा, ‘फिल्म इंडस्ट्री ने मेरा मजाक उड़ाया, गैंग बनाकर केस दर्ज किए हैं, लेकिन मैंने उन्हें बर्बाद कर दिया, वह कभी भी उबर नहीं पाएंगे जहां मैंने उन्हें मारा था’।

कंगना ने अपने इस ट्वीट में ट्विटर की आलोचना करते हुए आगे लिखा, ‘ट्विटर ने मुझे परेशान किया और दबा दिया, यह समय ईमानदारी की ताकत और व्यक्ति के चरित्र की ताकत को चुनौती देना का है।’ सोशल मीडिया पर कंगना रनोट का यह ट्वीट तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। अभिनेत्री के कई फैंस और तमाम सोशल मीडिया यूजर्स उनके ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

आपको बता दें कि बीते साल कास्टिंग डायरेक्टर और फिटनेस ट्रेनर मुनव्वर अली सैयद ने बांद्रा पुलिस थाने में कंगना रनोट और रंगोली चंदेल के खिलाफ राजद्रोह और अन्य मामलों में दर्ज एफआइआर करवाई थी। मुंबई पुलिस ने कंगना और रंगोली के खिलाफ आइपीसी की धाराएं 153-ए (धार्मिक आधार पर दो समुदायों के बीच नफरत फैलाना), 295-ए (जानबूझकर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाना), 124-ए (राजद्रोह) और 34 (साझा इरादा) लगाई गई हैं। मजिस्ट्रेट जयदेव घुले ने विगत 17 अक्टूबर को आदेश पारित करते हुए कहा था कि पुलिस दोनों बहनों के खिलाफ एफआइआर दर्ज करे और मामले की जांच करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here