गोरखपुर में 45 लाख की लूट की बदमाशों को थी सराफा कारोबारी की गतिविधि की पूरी जानकारी, करीबी पर संदेह

0
49

गोरखपुर। गोरखपुर के राजघाट थाना क्षेत्र के पांडेयहाता में मंगलवार रात सराफा कारोबारी से हुई लूट की वारदात में किसी करीबी पर मुखबिरी करने का संदेह है। सर्विलांस की मदद से पुलिस छानबीन कर रही है। संतकबीरनगर में सराफा कारोबारी कहां गए थे और किससे मिले इसकी जांच करने क्राइम ब्रांच की एक टीम भेजी गई है।

दुकानदारों से बात करने संतकबीरनगर रवाना हुई क्राइम ब्रांच

सराफा कारोबारी शैलेंद्र सिंह ने एडीजी व आइजी को बताया कि पिछले 10 साल से गोरखपुर में रहकर कारोबार कर रहे हैं। कभी भी उनके साथ कोई वारदात नहीं हुई। स्कूटी सवार बदमाशों ने रोका तो उन्हें लगा कि कोई बात होगी। मुंह बांधकर स्कूटी पर बैठा लंबे कद वाला बदमाश नीचे उतरने के बाद उनके पास आया। आते ही कमर के पास पिस्टल सटाकर बैग छीनने लगा। उन्होंने प्रतिकार किया तो जान से मारने की धमकी देने लगा। जिसके बाद उन्होंने बैग छोड़ दिया। वारदात के बाद बदमाश गली के रास्ते तुर्कमानपुर की तरफ निकल गए। देर रात तक चली छानबीन में पुलिस को कई जगह सीसी कैमरे की फुटेज मिली जिसमें वारदात को अंजाम देने वाले बदमाश दिख रहे हैं। पुलिस का मानना है कि किसी करीबी ने मुखबिरी की है। एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने बताया कि संतकबीरनगर पुलिस भी घटना की छानबीन कर रही है। छानबीन में कुछ महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे हैं।

जेल से छूटे बदमाशों पर है नजर

क्राइम ब्रांच की नजर जेल से छूटे कोतवाली, कैंट, राजघाट व तिवारीपुर क्षेत्र के रहने वाले बदमाशों पर है। जिनकी तलाश में देर रात तक पुलिस ने छापेमारी की। फुटेज में दिख रहे बदमाश के हुलिया से मिलते जुलते कई लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here