नहीं की डाउनलोड तो लौटना पडे़गा वापस, यमुना एक्सप्रेस-वे पर इस एप्प को फोन में रखना होगा अनिावर्य

0
80

नई दिल्ली। देश में नेशनल हाईवज पर डिजिटल पेमेंट को लेकर सरकार पिछले लंबे समय से जोर दे रही है। जिसके चलते बीते दिन रविवार को केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि, फास्टैग FasTag लगवाने की अंतिम थी 15 फरवरी 2021 से आगे नहीं बढ़ाई जाएगी। जिन वाहनों पर फास्टैग नहीं होगा उन्हें टोल प्लाज़ा पर भारी रकम चुकानी पड़ेगी। लेकिन अगर आप यमुना एक्सप्रेस वे (Yamuna Expressway) पर चलते हैं तो आपको फास्टैग के साथ ‘हाइवे साथी एप्प’ Highway Saathi App को डाउनलोड भी करना जरूरी होगा। नोएडा से आगरा तक चलते वक्त एक्सप्रेस-वे पर बिना ‘हाइवे साथी एप्प’ के सफर नहीं करने दिया जाएगा।

यमुना एक्सप्रेस-वे पर होगी सुरक्षा: नोएडा से आगरा आने-जाने वाले लोगों को इसका इस्तेमाल करना अनिवार्य होगा। यह एप्प हाइवे पर दुर्घटना के दौरान तत्काल मदद पहुंचाने के लिए बनाई गई है। इसके जरिये जैसे ही आप अपने वाहन को लेकर एक्सप्रेस-वे में प्रवेश करेंगे तो ‘हाइवे साथी एप्प का सर्वर आपके मोबाइल से कनेक्ट हो जाएगा। जिसके बाद आपके वाहन की हर एक गतिविधि पर एक्सप्रेस वे अथॉरिटी नज़र रखेगी और दुर्घटना की स्थिति में तुरंत आपकी लोकेशन ट्रैक कर के आप तक मदद पहुंचाएगी। ये देखा गया है कि हर साल अक्सर यमुना एक्सप्रेस-वे पर हादसे के बाद तत्काल मदद न मिल पाने से हज़ारों लोग जान गंवा देते हैं।

हादसों पर लगेगी लगाम: यमुना एक्सप्रेस-वे पर वाहन तेज गति से निकलते हैं। कई बार तेज रफ्तार में इमरजेंसी ब्रेक लगाने या कोहरे आदि की वजह से भयानक हादसे हो जाते हैं, ऐसे वक्त पर हाईवे साथी एप्प आपके बेहद काम आएगी। इस एप्प की मदद से वाहन चालक का मोबाइल नंबर और गाड़ी के नंबर की सारी जानकारी एक्सप्रेस-वे कंट्रोल रूम को मिल जाएगी। इस मुहिम को तेजी से बढ़ाने के लिए ग्रेटर नोएडा से आगरा के बीच टोल प्लाज़ा पर कैंप लगाए जाएंगे और गाड़ियों को रोक कर चेक किया जाएगा कि आपके मोबाइल में हाइवे साथी एप्प डाउनलोड है कि नहीं। यदि नहीं है तो पहले आपके फोन में इस एप्प को डाउनलोड करवाया जाएगा उसके बाद ही आप हाइवे पर अपना सफर पूर कर पाएंगे।

जानकारी के मुताबिक आज यानी 15 फरवरी से ही हाइवे साथी एप्प आपके फोन में डाउनलोड होना अनिवार्य कर दिया गया है। इसके अलावा फास्टैग पेमेंट प्रक्रिया की आज अंतित तिथि है। गौरतलब है कि गाड़ियों पर फास्टैग डिजिटल पेमेंट सरकार ने साल 2016 में शुरू किया था। उसके बाद से कई बार इसको लगवाने की अंतिम तिथि आगे बढ़ाने के बाद सरकार ने 15 फरवरी 2021 से इसे सभी वाहनों पर अनिवार्य कर दिया है। फास्टैग को आप किसी भी पेट्रोल पंप,टोल प्लाज़ा, पेटीएम एप्प या बैंक से प्राप्त कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here