पानी या जूस की खाते समय लेनी पड़ती है मदद, तो हो सकता है ये फूड पाइप से जुड़ी गंभीर समस्या की ओर इशारा

0
55

अक्सर कुछ लोग यह शिकायत करते हैं कि उन्हें भोजन निगलने में कठिनाई होती है, इसलिए कुछ भी खाते समय पानी, चाय या जूस जैसे तरल पदार्थों की मदद लेनी पड़ती है। अगर ऐसा हो तो बिना देर किए डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए क्योंकि यह फूड पाइप से जुड़ी किसी गंभीर समस्या का लक्षण हो सकता है।

क्या है भूमिका

आहार नली पाचन-तंत्र का प्रमुख हिस्सा है।यह खाद्य पदार्थों को मुंह से पेट तक ले जाती है। महीन मांसपेशियों की दो परतों से बनी फूड पाइप की लंबाई लगभग 25 सेंटीमीटर होती है। इसके शीर्ष पर टिश्यूज़ का एक समूह होता है, जिसे एपिगलॉटिस कहते हैं। दरअसल, एसोफैगस यानी आहार नली संबंधी रोगों के बारे में ज्यादातर लोग शुरुआत में ध्यान ही नहीं देते। धीरे-घीरे यह परेशानी बढ़ने लगती है। आइए जानते हैं इस समस्या और इसके उपचार के बारे में।

एसोफैगस फंगल इंफेक्शन

ग्रास नली में यह संक्रमण होने पर भोजन निगलने में दिक्कत और गले में दर्द की शिकायत होती है। इसे एसोफैगस फंगल इंफेक्शन कहा जाता है। आमतौर पर डायबिटीज़ से पीड़ित रोगियों के फूड पाइप में इंफेक्शन होने की आशंका रहती है।

इसके अलावा उपचार के दौरान जो लोग स्टेरॉयड दवाओं का सेवन करते हैं, उन्हें भी ऐसी समस्या हो सकती है। इसकी जांच बायोप्सी या एंडोस्कोपी द्वारा की जाती है। उपचार के दौरान एंटी-फंगल दवाएं दी जाती हैं, जिससे मरीज को जल्द ही आराम मिल जाता है। इसी तरह एकैल्शिया कार्डिया भी आहार नली से जुड़ी ऐसी समस्या है, जिसमें उसकी मांसपेशियां सख्त हो जाती हैं। आमतौर पर दवाओं और बलून थेरेपी के माध्यम से इसका उपचार किया जाता है। इतना ही नहीं जिन्हें सिगरेट और तंबाकू की लत होती हैं, उनमें एसोफैगल यानि फूड पाइप कैंसर की आशंका बढ़ जाती है।

कैसे होती है पहचान

– सीने में जलन

– चक्कर आना

– बार-बार हिचकी या डकार आना

– वॉमिटिंग

– भूख न लगना

– सांस लेने में तकलीफ

– भोजन निगलने में परेशानी

क्या है उपचार

अगर सही समय पर इसकी पहचान करके इसका उपचार शुरु किया जाए तो केवल दवाओं की मदद से यह समस्या दूर हो सकती है। अगर दवाओं से राहत नहीं मिलती तो एंडोस्कोपी के जरिए आहार नली की बारीकी से जांच की जाती है, उसकी स्थिति का जायजा लेने के बाद उपचार शुरू किया जाता है। कई बार सिकुड़ चुकी आहार नली को खोलने के लिए भी एंडोस्कोपी और सर्जरी की मदद ली जाती है। यह उपचार की सुरक्षित प्रक्रिया है, इसके बाद मरीज पूर्णतः स्वस्थ हो जाता है। इसलिए अगर भोजन निगलने में अक्सर परेशानी महसूस हो तो इसे मामूली समस्या समझकर नजरअंदाज न करें। बिना देर किए डॉक्टर से सलाह लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here