पूर्व प्रधान व भाजपा नेता बृजेश सिंह की हत्या का खुलासा, पंजाब के शूटरों ने दिया था वारदात को अंजाम

0
34

गोरखपुर। भाजपा नेता व नरायनपुर गांव के पूर्व प्रधान बृजेश सिंह की हत्या जमीन पर कब्जे को लेकर चल रहे विवाद में हुई थी।महराजगंज जिले के रहने वाले प्रापर्टी डीलर व उसके साथी ने अमृतसर (पंजाब) के रहने वाले दो शूटरों को बुलाकर वारदात को अंजाम दिया। रविवार को गुलरिहा पुलिस व क्राइम ब्रांच ने खुटहन के पास साजिशकर्ता समेत पांच आरोपितों को गिरफ्तार किया। शूटरों की तलाश चल रही है। उनके ऊपर 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है। चार नामजद आरोपितों में तीन की घटना में कोई भूमिका न होने पर उन्हें छोड़ दिया गया है।

इसलिए की हत्‍या

एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु ने बताया कि दो अप्रैल की रात में गुलरिहा थाना क्षेत्र के नरायनपुर गांव में पूर्व प्रधान बृजेश सिंह की बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। बृजेश के भाई ने चार लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने चारों को हिरासत में ले लिया था हालांकि जांच में सामने आया कि नामजद चार आरोपितों में से तीन बेगुनाह हैं जबकि एक रामसमुझ की साजिशकर्ताओं के साथ सांठगांठ है।रामसमुझ से बृजेश की जमीनी रंजिश चल रही थी। बृजेश सिंह का जमीन पर कब्जा था जबकि रामसमुझ कोर्ट में मुकदमा लड़ रहा था। करोड़ों की इस जमीन पर पिपराइच थाना क्षेत्र के जंगल औराही टोला गजराज निवासी बहादुर चौहान और महराजगंज जिले के पनियरा थाना क्षेत्र के जडार गांव निवासी प्रापर्टी डीलर जितेन्द्र सिंह की नजर पड़ी।

गोरखपुर में चार माह से छिपे थे हत्‍यारे

रामसमुझ ने विवादित जमीन को 50 लाख में बेचने के लिए एग्रीमेंट कर लिया। जमीन पर कब्जा करने के लिए आरोपितों ने बृजेश सिंह की हत्या करने की योजना बनाई। जितेंद्र का संपर्क पंजाब, अमृतसर दबिनंद्र नगर नरनतारन रोड निवासी सतनाम सिंह उर्फ छिद्दू और राजबीर उर्फ राजू से था। 2018 में लखीमपुर खिरी जिले में हत्या करने के बाद दोनों स्पोट्र्स कालेज के पास रहने वाले जितेंद्र के मामा के घर चार माह छिपे थे। दोनों से संपर्क कर जितेन्द्र ने बृजेश की हत्या के लिए सुपारी दी थी। एसएसपी ने बताया कि राजवीर और सतनाम के साथ जितेन्द्र भी हत्या के दौरान मौके पर था। गोरखनाथ के रामजानकी नगर निवासी कृष्ण कुमार गुप्ता व महराजगंज, पनियरा के बडार गांव निवासी दिवाकर सिंह ने मदद की थी। दोनों ने बदमाशों को गाड़ी मुहैया कराई थी। रविवार सुबह क्राइम ब्रांच की मदद से गुलरिहा पुलिस ने खुटहन गांव के पास रामसमुझ, बहादुर चौहान, जितेन्द्र सिंह, कृष्ण कुमार गुप्ता और दिवाकर सिंह को गिरफ्तार किया। दोपहर बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया गया जहां से जेल भेज दिया गया।अमृतसर के रहने वाले शूटर सतनाम सिंह व राजबीर की तलाश चल रही है।

जमीन बिकने पर मिला 20 प्रतिशत हिस्सा

एसएसपी ने बताया कि जितेन्द्र और बहादुर ने दोनों शूटरों को जमीन बिकने पर 20 प्रतिशत हिस्सा देने का भरोसा दिया था।एडवांस के तौर पर उन्हें आने-जाने का किराया दिया गया था। घटना से दो दिन पहले शूटर गोरखपुर आए थे। रेकी करने के बाद उन्होंने वारदात को अंजाम दिया था। हत्या की यह घटना अक्टूबर में ही करने का उनका प्लान था पर इन लोगों ने चुनाव तक रुकने का मन बना लिया था। जितेन्द्र और बहादुर को पता था कि बृजेश सिंह चुनाव लड़ेंगे चुनाव के समय हत्या करने पर यह पूरी घटना चुनावी रंजिश की तरफ डायवर्ड हो जाएगी और उनके ऊपर किसी का शक नहीं जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here