‘प्रतिदिन दो लाख लोगों को टीका लगे तो तीन दिन में खत्म हो जाएगा स्टॉक’, बोले सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह

0
84

चंडीगढ़। पंजाब में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। ऐसे में राज्य सरकार प्रतिदिन दो लाख लोगों को कोरोना टीका लगाने की तैयारी में है, लेकिन टीके की कमी के कारण सरकार ऐसा कर पाने में सक्षम नहीं है। पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह का कहना है कि वर्तमान में लगभग 90 हजार लोगों को प्रतिदिन टीका लगाया जा रहा है। राज्य में टीके का वर्तमान स्टाक 5 दिन (5.7 लाख कोविड वैक्सीन खुराक) का है। ऐसे में यदि दो लाख लोगों को प्रतिदिन टीका लगाया जाए तो वर्तमान में उपलब्ध वैक्सीन का स्टाक तीन दिन में ही खत्म हो जाएगा।

बता दें, पंजाब में मौत दर पर काबू पाने के लिए प्रदेश की मुख्य सचिव विनी महाजन ने स्वास्थ्य विभाग को चल रही टीकाकरण मुहिम में तेजी लाने के निर्देश दिए थे। रोजाना दो लाख लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य है। लेकिन सीएम ने अब ट्वीट कर जानकारी दी है कि राज्य में यदि लक्ष्य के अनुसार चला जाए तो तीन दिन में वैक्सीन खत्म हो जाएंगी।

विनी महाजन ने राज्य में कोविड के उचित प्रबंधन के लिए हरेक जिले के लिए एक -एक करोड़ रुपये के विशेष फंड का ऐलान भी किया। राज्य में कोविड की मौजूदा स्थिति की समीक्षा के लिए एक उच्चस्तरीय मीटिंग की अध्यक्षता करते हुए उन्होंने कहा कि महामारी के साथ लड़ाई में फंडों की कोई कमी नहीं है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को यह भी हिदायत की कि वायरस को हराने के लिए हफ्ते में दो दिन (मंगलवार और शुक्रवार) को बड़े स्तर पर टीकाकरण किया जाए, जिससे अधिक से अधिक लोगों को कवर किया जा सके। उन्होंने अप्रैल महीने के लिए राज्य का हफ्तावारी लक्ष्य 16 लाख से अधिक व्यक्तियों के टीकाकरण का निश्चित किया।

योग्य व्यक्तियों को जल्दी से जल्दी टीका लगवाने की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि हफ्ते के सभी दिनों के दौरान टीकाकरण किया जा रहा है और स्वास्थ्य एवं फ्रंटलाइन कर्मचारियों के लिए टीकाकरण की कोई उम्र सीमा नहीं है। उन्होंने आगे कहा उच्च अधिकारी टीकाकरण रजिस्ट्रेशन के लिए कर्मचारियों को जरूरी कर्मचारियों की सूची में से अधिकारित कर सकते हैं।

प्रशासकीय सचिवों, डिप्टी कमिश्नरों, पुलिस कमिश्नरों/सीनियर सुपरिंटेंडेंट आफ पुलिस और राज्य के अन्य सीनियर अधिकारियों के साथ कोविड स्थिति की समीक्षा करते हुए मुख्य सचिव ने अधिकारियों को हिदायत की कि नमूने लेने की संख्या बढ़ाकर प्रतिदिन 50,000 की जाए और हरेक पाॅजिटिव व्यक्ति के पीछे कम से कम 20 संपर्कों का पता लगाकर उनका प्रोटोकोल के अनुसार टेस्ट करवाया जाए, जिससे वायरस के फैलाव को रोका जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here