प्रेमी के निकाह करते ही युवती ने माफ किया दुष्कर्म का गुनाह, ड़ी द‍िलचस्‍प है मुरादाबाद की ये प्रेम कहानी

0
66

मुरादाबाद। प्रेमी के निकाह करते ही युवती ने दुष्कर्म का गुनाह माफ कर दिया। फिलहाल दुल्हन को ससुराल वाले विदा कराकर अपने घर ले आए हैं। लेकिन, अभी पुलिस की विवेचना बाकी है। युवती के कोर्ट में बयान होने के बाद ही इस पर कोई फैसला होगा।

थाना मैनाठेर के एक गांव निवासी पूर्व प्रधान के बेटे का अपने ही गांव की एक गरीब की बेटी से प्यार हो गया। दोनों ने साथ जीने मरने की कसमें खाईं। लेकिन, शादी के लिए दोनों परिवारों में से कोई तैयार नहीं था। पूर्व प्रधान का बेटा भी पढ़ा लिखा है। युवती भी शिक्षित है, लेकिन, उसके पिता पूर्व प्रधान के यहां रिश्ता लेकर जाने के लिए तैयार नहीं थे। उनका कहना था कि हमारी हैसियत ही पूर्व प्रधान के घर रिश्ता करने की नहीं है। लड़का भी घर वालों के डर से प्रेमिका को अपना नहीं पा रहा था। इससे गुस्सा होकर युवती ने घर छोड़ दिया और अपने रिश्तेदार की मदद से प्रेमी और उसके दो भाईयों के खिलाफ मुकदमा लिखा दिया। युवती का आरोप था कि प्रेमी ने शादी का झांसा देकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए। अब शादी से मुकर रहा था। शादी की बात करने पर जान से मारने की धमकी देता है। उसके दो भाईयों ने भी उसे धमकाया है। मुकदमा लिखाने के बाद युवती अपनी मौसी के घर पहुंच गई। गांव के जिम्मेदार लोगों को मालूम हुआ तो उन्होंने युवती के पिता से बात की। कहा कि पहले तुमको गांव के लोगों के सामने अपनी बात रखनी चाहिए थी। सीधे मुकदमा क्यों लिखवा दिया। पिता कहने लगे कि युवती ने खुद कार्रवाई कराई है। मेरा इससे कोई लेना देना नहीं है। मुकदमा लिखने के दो दिन बाद जिम्मेदार लोगों ने सारी बात फाइनल कर दी। रव‍िवार को प्रेमी के घर वाले युवती से निकाह कराकर उसे दुल्हन के तौर पर घर ले आए। तय यह हुआ था कि अगले दिन युवती विदा होकर मायके चली जाएगी। ससुराल पक्ष के लोग कुछ लोगाें को युवती के घर ले जाकर फिर से उसे विदा करा लाएंगे। लेकिन, युवती का पिता उसे ससुराल से विदा कराने ही नहीं आए। यह बात गांव में चर्चा का विषय बनी हुई है। प्रभारी निरीक्षक रामवीर सिंह ने बताया कि निकाह होने की बात मेरी जानकारी में नहीं आया है। युवती ने मुकदमा लिखाया है। कानून के मुताबिक आगे की कार्रवाई होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here