बिहार जाने वाली बस से वसीम अकरम गोली-चाकू के साथ गिरफ्तार, पुलिस ने धर दबोचा…

0
149

रांची, जासं।  बिहार के सिवान जिले का शातिर बदमाश वसीम अकरम रांची में पकड़ा गया। पुलिस ने उसे राजधानी के खादगढ़ा बस स्‍टैंड से धर दबोचा। वह एक बस से सिवान जाने की तैयारी में था। गुप्‍त सूचना के आधार पर इस अपराधी की गिरफ्तारी हुई है। पुलिस ने उसके पास से एक चाकू और 4 गोलियां बरामद की हैं। फिलहाल अपराधी से पूछताछ की जा रही है।

दैनिक जागरण संवाददाता के मुताबिक रांची के खादगढ़ा बस स्‍टैंड से बिहार जाने वाली बस सत्येंद्र रथ से चार गोलियां और एक चाकू के साथ अपराधी गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार अपराधी बिहार के सीवान जिले के पचरुखी थाना क्षेत्र के वैशाखी निवासी वसीम अकरम है। रांची के खेलगांव थाना प्रभारी मुक्तिनारायाण सिंह को सूचना मिली थी कि सत्येंद्र रथ बस में सवार होकर जाने वाला एक व्यक्ति गोलियां लेकर जा रहा है।

इस सूचना पर पुलिस की टीम ने छापेमारी की। छापेमारी के दौरान पुलिस को देखकर अपराधी भागने लगा। हालांकि पुलिस ने आरोपित को खदेड़कर दबोच लिया। उसकी तलाश लेने पर चार गोलियां और एक चाकू बरामद की गई। पूछताछ में उसने बताया कि राउरकेला से 500 रुपये प्रति पीस गोलियां लेकर जा रहा था। जिसकी बिक्री बिहार में वह एक हजार रुपये में करता। उसे जिसने गोलियां दी, इसके बारे में जानकारी नहीं दी। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। गुरुवार को उसे जेल भेजा जाएगा।

बिहार भेजने के लिए बस में लोड किया गया था 40 किला गांजा, पुलिस ने किया जब्त

रांची के कांटाटोली चौक स्थित खादगाढ़ा बस स्टैड से बुधवार की शाम भारी मात्रा में गांजा की खेप पकड़ी गई है। 40 किलो गांजा बिहार के बक्सर जाने वाली बस से बरामद किया गया है। हालांकि गांजा के तस्कर बच निकले।जानकारी के अनुसार बक्सर जाने वाली स्लीपर बस की तीन सीटें बुक की गई थी। स्लीपर सीट में दो एयरबैग व एक पिट्ठू बैग में गांजा छुपाकर रखा गया था। इसकी सूचना मिलते ही खादगाड़ा टीओपी प्रभारी भीम सिंह ने बस में छापेमारी की।

हालांकि छापेमारी से पहले गांजा ले जाने वाले तस्कर फरार हो गए। पुलिस ने सभी बैग को खोलकर देखा तो उसमें गांजा मिले। गांजा को जब्त कर लिया गया। बस में गांजा रखने वाले तस्करों का पता लगाया जा रहा है। स्टैंड में लगी सीसीटीवी फुटेज के जरिए उनकी पहचान की कोशिश की जा रही है। टीओपी प्रभारी भीम सिंह ने बताया कि गांजा तस्करी की सूचना मिलते ही छापेमारी की गई। तस्करों की भी पहचान में टीम लगी है।

होटल की आड़ में गांजा की बिक्री, फर्जी पत्रकार सहित दो धराए

रांची पुलिस नशा के खिलाफ लगातार कार्रवाई कर रही है। इसी कड़ी में सुखदेव नगर थाना प्रभारी ममता के नेतृत्व में गांजा तस्करी का भंडाफोड़ किया गया है। पिस्कामोड़ के पास से होटल की आड़ में गांजा बिक्री के दो धंधेबाजों को दबोचा गया है। इनमें एक फर्जी पत्रकार भी शामिल है। दोनों के पास से दो किलो गांजा बरामद किए गए हैं।पुलिस के अनुसार पकड़े गए आरोपितों में उपेंद्र कुमार और विकास सिंह शामिल है। उपेंद्र पिस्का मोड़ के पास एक झाेपड़ीनुमा होटल चलवाता था।

जबकि विकास सिंह यूट्यूब चैनल के जरिए वीडियो अपलोड कर खुद को पत्रकार बताता था। इसकी आड़ में वह गांजा की तस्करी करता था।सुखदेवनगर थाना प्रभारी ममता को गुप्ता सूचना मिली थी कि पंडरा ओपी क्षेत्र के जनक पेट्रोल पंप के सामने स्थित एक झोपड़ी नुमा घर से गांजा तस्करी का कारोबार चल रहा है।इसी सूचना पर कार्रवाई करते हुए पुलिस की टीम ने उपेंद्र कुमार नामक शख्स को दबोच लिया।

उपेंद्र की निशानदेही पर गांजा की खरीद फरोख्त में उसकी मदद करने वाले विकास सिंह नामक युवक को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उपेंद्र कुमार के पास से पुलिस ने दो किलो गांजा बरामद किया है। गौरतलब है कि बीते सोमवार को भी सुखदेवनगर इलाके से आठ किलो गांजा के साथ दो को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here