‘मांगें वारिध देहि जल रामचंद्र के राज’ अनूप ठाकुर महाराज

0
120

जिला फर्रूखाबाद के मिनी कुंभ पांचाल घाट मेला राम नगरिया में चल रही पाक्षिक श्री राम कथा में शनिवार को असलापुर धाम से पधारे प्रसिद्ध कथावाचक अनूप ठाकुर महाराज ने राम राज्याभिषेक की कथा अपने मुखारबिंदु से मार्मिक वर्णन करते हुए राम राज्याभिषेक का वर्णन कर रामराज्य की व्याख्या की

अनूप महाराज ने बताया कि भगवान राम जब रावण को मारकर अयोध्या वापस आए तो अयोध्यावासियों ने उनका बड़े उत्साह के साथ स्वागत किया। अयोध्यावासियों ने फूल वर्षा कर तथा घर में उत्सव मनाकर घी के दिए जलाकर के राम, लक्ष्मण तथा सीता का स्वागत किया।

श्री राम में कथा व्यास अनूप महाराज ने कहा कि श्री रामचंद्र जी के राज्याभिषेक में समस्त ब्रह्मांड के देवी देवता पधारे थे। सभी ने राम को राजा बनते देखकर अपार हर्ष व्यक्त किया था व्यास ने रामराज्य की महिमा का बखान करते हुये बताया कि रामराज्य में किसी भी प्राणी कोई दुख नहीं था। कोई किसी से बैर भाव नहीं रखता था। असमय मृत्यु नहीं होती थी। सभी प्राणी बहुत सुखी रहते थे, श्री राम कथा में राज्याभिषेक के समय राजा रामचंद्र जी के जयकारों से पूरा पंडाल गुंजायमान हो गया। कार्यक्रम आयोजकों द्वारा आरती उतार कर एवं फूल वर्षा कर राम का राज्याभिषेक करने के बाद कथा का विश्राम हुआ। इस अवसर पर मास्टर जगतपाल सिंह, धनपाल सिंह, महेशपाल सिंह उपकारी कवि, रमेश सिंह समेत बहुत बड़ी संख्या में श्रोतागण उपस्थिति रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here