मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने पूर्णागिरी धाम में फोर-जी सेवाओं की शुरूआत करते हुए कहा कोरोना के इस दौर में डिजिटल कनेक्टिविटी बेहद जरूरी

0
90

देहरादून। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि पूर्णागिरी धाम में फोर-जी सेवाओं की शुरूआत करते हुए कहा कि कोरोना महामारी के इस दौर में मोबाइल और डिजिटल कनेक्टिविटी बेहद जरूरी है। उन्होंने फोर-जी सेवाओं की शुरूआत के लिए जियो कंपनी और मुकेश अंबानी को भी धन्यवाद दिया।

पूर्णागिरी धाम में शनिवार को फोर-जी सेवाओं की वर्चुअल शुरूआत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि विद्यार्थियों की पढ़ाई, मध्यम व लघु उद्योग के कार्यों के साथ ही प्रदेश में आने वाले पर्यटकों और स्थानीय नागरिकों के लिए डिजिटल कनेक्टिविटी बेहद जरूरी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में डिजिटल इंडिया की परिकल्पना साकार हो रही है।

पंचायतों को आप्टिकल फाइबर के माध्यम से नेटवर्किंग से जोड़ा गया है। प्रदेश सरकार भी केंद्र सरकार के साथ डिजिटल क्रांति के क्षेत्र में आगे बढ़ रही है। प्रदेश सरकार ने जियो कंपनी के साथ मिलकर उत्तराखंड के दूरस्थ क्षेत्रों तक फोर-जी कनेक्टिविटी पहुंचाने का कार्य किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड देवभूमि है। यहां अनेक धार्मिक स्थान हैं। यहां फोर-जी सेवाएं शुरू हो चुकी हैं। महत्वपूर्ण मंदिरों और तीर्थस्थलों को फोर-जी नेटवर्क से जोड़ा गया है। उत्तराखंड के सीमांत क्षेत्रों में भी मोबाइल कनेक्टिविटी पहुंच गई है। यहां के निवासी अब फोर-जी सेवाओं का लाभ लेने लगे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने कंपनी से बात कर कहा है कि जिन गांव में बड़ा टावर नही लग सकता, वहां छोटे टावर लगाए जाएं।

कंपनी ने तय किया है कि पंचायत घर, मिलन केंद्र आदि में छोटे टावर लगाकर गांव की आबादी को मोबाइल कनेक्टिविटी से जोड़ा जाएगा। इस दौरान जियो के उत्तराखंड स्टेट हेड विशाल अग्रवाल, पूर्णागिरी मंदिर के चैयरमेन भुवन चन्द्र पांडेय व गिरीश चंद्र पांडेय आदि वर्चुअल माध्यम से जुड़े हुए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here