लाइफस्टाइल में करेंगे ये 6 बदलाव, तो लंबे समय तक किडनी हेल्दी रहेंगी

0
5

नई दिल्ली। हम सभी के लिए साल 2020 सेहत के हिसाब से बेहद डरावना और ख़तरनाक बीता। कोरोना वायरस महामारी ने हमें स्वच्छता के साथ लाइफस्टाइल में सेहतमंद बदलाव करने पर मजबूर कर दिया। इससे पहले हम में से कुछ ही लोग सेहत की अहमियत को पहचानते थे। बीते साल हम सबने अपने शरीर और सेहत को अहमियत दी और उसे हेल्दी बनाए रखने के लिए क्या नहीं किया। तो इसलिए अगर आप इस साल अपनी लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करना चाह रहे हैं, तो ये सेहत से ही जुड़ा होना चाहिए। 

क्यों न इस साल ठान लें कि हम अपनी लाइफस्टाइल में बदलाव कर अपने शरीर को मज़बूत बनाएंगे, ताकि बीमारियां दूर रहें और हम स्वस्थ रहें। चलिए शुरुआत करते हैं किडनी है। किडनी इसलिए क्योंकि आमतौर पर लोग उम्र के साथ किडनी की बीमारी से ग्रस्त हो जाते हैं। चाहे फिर वो डायबिटीज़ की वजह से हो या फिर कोई और बीमारी।

डॉक्टर्स का मानना है कि शरीर के बाकी अंगों की तरह किडनी का भी ख्याल रखना ज़रूरी है। किडनी स्वस्थ रहेगी तो शरीर में जमा कचरा अच्छी तरह छन जाएगा और शरीर का काम आसानी से हो सकेगा। इसके लिए आपको अपनी लाइफस्टाइल में ये 6 बदलाव करने होंगे।

1. हाइड्रेशन है सबसे ज़रूरी: हम सब ये जानते हैं कि भरपूर पानी पीने में सेहत का राज़ छिपा है। हालांकि, ज़रूरत से ज़्यादा पानी पीनी से भी समस्या खड़ी हो सकती है, खासतौर पर किडनी फेलियर। दिन में 8 ग्लास पानी पर फोकस करने की जगह इतना पानी पिएं ताकि आपना मूत्र हल्के पीले या फिर साफ रंग का हो।

2. किडनी के स्वास्थ्य के लिए खाएं: डायबिटीज़ और हाई ब्लड प्रेशर किडनी की बीमारी का सबसे बड़ा कारण है। इसलिए खाने में कम नमक, कम कोलेस्ट्रोल वाला खाना ही लें ताकि इन बीमारियों से दूर रहा जा सके।

3. फिटनेस पर ध्यान दें: रोज़ाना वर्कआउट करने से शरीर का स्वस्थ वज़न बना रहता है, डायबिटीज़ और दिल की बीमारी से बचते हैं और ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रोल भी संतुलन में रहता है। आप जितना पसीना बहाएंगे, आपकी किडनी उतनी ही स्वस्थ रहेंगी और साथ ही पूरा शरीर भी। साथ ही पानी पीना न भूलें।

4. किडने के लिए फिल्टर करें: आपकी किडनी खून से हानीकारक चीज़ों को हटाने की ज़िम्मेदार होती हैं, जिसमें सिगरेट और शराब भी शामिल है। इसलिए बेहतर यही है कि इन चीज़ों से दूर रहा जाए। इसके अलावा किडनी दवाइयों को भी फिल्टर करने का काम करती हैं, इसलिए दवाइयों की डोज़ उतनी ही लें, जितनी डॉक्टर ने बताई हैं, ज़्यादा लेने से किडनी पर असर पड़ सकता है। 

5. परिवार में किडनी से जुड़ी बीमारी: कुछ लोगों में किडनी की बीमारी आसानी से हो जाती है, इसका कारण आपके परिवार में चली आ रही किडनी से जुड़ी बीमारियां हो सकती हैं। डायबिटीज़ और हाई ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियां किडनी को अस्वस्थ बनाने में सबसे आगे हैं, लेकिन इनके अलावा दिल की बीमारी, मोटापा और स्मोकिंग के साथ उम्र और परिवार में किडनी से जुड़ी बीमारी का इतिहास भी कारण होते हैं।

6. किडनी की जांच कराते रहें: किडनी की बीमारी को ‘साइलेंट किलर’ भी कहा जाता है, क्योंकि जब तक लक्षण दिखते हैं, तब तक मरीज़ की 90 प्रतिशत किडनी ख़राब हो चुकी होती हैं। इसलिए किडनी की जांच कराते रहने से आपको समय से बीमारी का पता लग सकता है। 

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here