वेलेंटाइन डे पर लखनऊ में पूर्व विधायक के भतीजे ने खुद को मारी गोली, सुसाइड नोट में लिखी- महिला के प्रताड़ना की दास्‍तां

0
63

लखनऊ।  राजधानी में रविवार को वेलेंटाइन डे पर बसपा के पूर्व विधायक उमेश चंद्र पांडेय के भतीजे प्रवीण पांडेय ने अवैध पिस्टल से खुद को गोली मारकर आत्‍महत्‍या कर ली। मृतक प्रवीण का शव उनके गोमतीनगर स्थित त्रिमूर्ति पैलेस से बरामद हुआ। पुलिस को घटनास्‍थल से सुसाइड नोट भी मिला है। जिसमें एक महिला की प्रताड़ना से त्रस्त होकर खौफनाक कदम उठाने की बात लिखी है। दायीं ओर कनपटी पर सटाकर पर गोली का निशान मिला है। मृतक प्रवीण पैर से दिव्यांग थे और वह बैसाखी के सहारे चलते थे। पुलिस महिला के साथ कई अन्य बिंदुओं पर पड़ताल कर रही है। बंद कमरे में बेड पर खून से लथपथ मिला शव…

मामला गोमतीनगर थानाक्षेत्र के त्रिमूर्ति पैलेस का है। एसीपी गोमतीनगर श्वेता श्रीवास्तव ने बताया कि प्रवीण मूल रूप से मऊ जनपद के हाजीपुर घोसी के रहने वाले थे। उन्‍होंने  12 फरवरी को ओयो के जरिए रूम बुक कराया था और रात दो बजे करीब होटल पहुंचे थे। यहां रूम नंबर 206 में रुके थे। वह पहले जिम ट्रेनर थे। दो साल पहले एक्सीडेंट में पैर खराब हो गए थे। इस कारण बैसाखी के सहारे चलते थे। अक्सर विश्वासखंड निवासी चाचा मुकेश पांडेय के यहां उनका आना-जाना था। इस बार उन्होंने होटल में कमरा किस कारण लिया था, इसकी जानकारी की जा रही है। एसीपी ने बताया कि सुसाइड नोट में एक महिला पर प्रताड़ना और ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया है। महिला के बारे में बताया है कि वह जानकीपुरम की रहने वाली है। महिला के पते पर पुलिस टीम भेजी गई तो पता चला कि वहां कोई अन्य व्यक्ति रहता है। यह भी जानकारी मिली है कि महिला ने हजरतगंज कोतवाली में प्रवीण के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कराया था। उस बारे में भी पड़ताल की जा रही है।

शनिवार दोपहर से ही कमरे से नहीं निकले थे:  होटल के मैनेजर राहुल ने बताया कि शनिवार दोपहर से प्रवीण अपने कमरे से बाहर नहीं निकले थे। रविवार दोपहर हाउस कीपिंग के कर्मचारी ने सफाई करने के लिए कमरे का दरवाजा खटखटाया तो कोई उत्तर न मिला। इसके बाद पुलिस को सूचना देकर कमरा खोला गया तो बेड पर खून से लथपथ शव पड़ा था। पास में ही पिस्टल भी पड़ी थी। इसके बाद फोरेंसिक टीम ने पहुंचकर घटना से संबंधित साक्ष्य जुटाए।

किसी ने नहीं सुनी गोली की आवाज: इंस्पेक्टर गोमतीनगर धीरज कुमार सिंह ने बताया कि होटल कर्मचारियों के बयान दर्ज किए गए हैं। उन्होंने बताया कि किसी ने गोली चलने की आवाज नहीं सुनी है। किस समय प्रवीण ने आत्महत्या की। इसके अलावा कई अन्य बिंदुओं पर मामले की पड़ताल की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here