सामने आ रहे हैं ठगी के कुछ इस तरह के मामले, वीडियो कॉल पर अश्लील बातें करना पड़ सकता है भारी

0
53

देहरादून। कोई युवती आपसे फेसबुक पर दोस्ती के लिए फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजे तो पूरी तरह से जांच-पड़ताल कर ही उसे एक्सेप्ट करें। हो सकता है कि युवती ठगी करने के उद्देश्य से फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज रही हो। इन दिनों साइबर थाने में इस तरह के केस बड़ी संख्या में आ रहे हैं। पहले युवती फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजकर दोस्ती करती है। धीरे-धीरे बात चेट तक आ जाती है और फिर वीडियो कॉल पर अश्लील बातें करके वह दूसरे इंसान को फंसा देती है। बाद में युवती ब्लैकमेल कर पैसों की डिमांड करना शुरू कर देती है। 

एसएसपी स्पेशल टास्क फोर्स अजय सिंह ने बताया कि आजकल अश्लील वीडियो कॉल ठगी का धंधा बन गया है। साइबर क्रिमिनल युवतियों के सहारे लाइव वीडियो चैट करते हुए वीडियो तैयार कर लेते हैं और फिर ब्लैकमेल कर लाखों रुपये मांगते हैं। पैसे वसूलने के लिए फेसबुक फ्रेंडस को अश्लील वीडियो भेजने या यू ट्यूब पर डालने तक की धमकी दी जाती है। यहां तक कि अपने मोबाइल नंबर को ट्रू कॉलर की सेंटिंग में क्राइम ब्रांच या फिर यू ट्यूब क्राइम के नाम से सेव करके ब्लैकमेल करने के लिए भी कॉल करते हैं। क्राइम ब्रांच के नाम पर ऑनलाइन दुष्कर्म का मामला बताकर पैसे मांगते हैं या फिर यूट्यूब क्राइम के नाम पर कॉल कर कहते हैं कि आपकी अश्लील वीडियो यूट्यूब पर वायरल हो रही है।

इसके अलावा वॉट्सएप पर किसी लड़की की फोटो को कॉपी कर उसे अश्लील बनाकर भी ब्लैकमेल कर पैसे वसूलते हैं। इन सभी अपराधों को अंजाम देने के लिए ये लोग असम, पश्चिम बंगाल, उड़ीसा, झारखंड, तमिलनाडु या दूसरे राज्यों के फर्जी सिमकार्ड ले आते हैं और इस्तेमाल करते हैं। ताकि पुलिस उन तक न पहुंच सके। इसी तरह उत्तर प्रदेश, बिहार और दूसरे राज्यों के बैंक खाते भी किराए पर ले लेते हैं। साथ ही उनमें आए पैसों को कमीशन के तौर पर देते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here