अब भारतीय गेम लेंगे इनकी जगह, मोबाइल पर खेले जा रहे कई गेम हिंसक और लत पैदा करने वाले

0
88

नई दिल्ली। मोबाइल फोन पर खेले जा रहे कई गेम हिंसक, लत पैदा करने वाले और मुखर हैं। पबजी इनमें से एक है। केंद्र सरकार भारतीय मान्यताओं के अनुसार सेंटर ऑफ एक्सीलेंस की स्थापना कर ऑनलाइन गेम विकसित करने की दिशा में कार्य कर रही है। यह जानकारी केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने दी है। पबजी उन 100 से ज्यादा चीनी मोबाइल एप्लीकेशंस में शामिल है जिन्हें बीते वर्ष में भारत सरकार ने प्रतिबंधित किया था।

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री जावडेकर ने कहा, सरकार गेमिंग सेंटर बनाकर उनके जरिये भारतीय सांस्कृतिक मान्यताओं को विकसित करने का कार्य करेगी। खेल-खेल में..की वर्चुअल प्रदर्शनी और पुरस्कार वितरण समारोह के उद्घाटन के मौके पर जावडेकर ने भारत सरकार की योजना के बारे में बताया। खेल-खेल में.. का आयोजन महाराष्ट्र सरकार की खिलौने, खेल, मनोरंजक कार्य को तैयार करने की प्रतियोगिता है।

जावडेकर ने बताया कि ऑनलाइन गेम तैयार करने के प्रयास में आइआइटी बॉम्बे सहयोग दे रहा है। हम इस सिलसिले में तैयारियों का खाका तैयार कर चुके हैं। जल्द ही इसे क्रियान्वित करने की तैयारी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस मामले में खासतौर पर रुचि ले रहे हैं। वह भारतीय मूल्यों के साथ बच्चों और युवाओं में विकास की कल्पना को साकार होते देखना चाहते हैं।

जावडेकर ने कहा, हम तकनीक को मूल्यों के साथ विकास से जोड़ना चाहते हैं। निश्चित रूप से हम इसमें सफल होंगे और देश में विकास की एक नई धारा बहेगी। अभी दिखाए जा रहे तमाम ऑनलाइन गेम बच्चों और युवाओं में हिंसा और अन्य खराब आदतों को बढ़ावा दे रहे हैं। यह देश और समाज के लिए खतरनाक है। इन पर रोक लगाकर देश को सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ाया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here