इस तरह पहनेंगे मास्क तो कोरोना वायरस से मिलेगी बेहतर सुरक्षा!

0
147

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की वैक्सीन भले ही लगना शुरू हो गई हो, लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि अब कोविड संक्रमण का ख़तरा ही ख़त्म हो गया हो। खासतौर पर भारत जैसी आबादी वाले देश में आधी आबादी को वैक्सीन लगने में कम से कम 6 महीने लग जाएंगे और जब तक सभी लोगों को वैक्सीन नहीं लग जाती तब तक सावधानियां बरतनी बेहद ज़रूरी है। इसके अलावा नए अत्यधिक संक्रामक कोविड का नया वेरिएंट दुनिया के कई हिस्सों में फैलने लगा है, इसलिए सतर्क रहना और भी महत्वपूर्ण हो गया है। 

मास्क पहनना संक्रमण के ख़तरे को कम करने के प्रभावी तरीकों में से एक है, इसलिए अमेरिका के सेंटर फॉर डिसीज़ कंट्रोल और प्रीवेंशन (CDC) ने इससे जुड़ी कुछ सलाह दी हैं, जिससे आपके बेहतर सुरक्षा मिल सकती है।

दो मास्क पहनें

दो मास्क पहनना भले ही आपको कुछ अजीब लगे, लेकिन शोध बताते हैं कि इससे असल में फायदा मिलता है। CDC की गाइडलाइन्स के मुताबिक, सर्जिकल मास्क के ऊपर कपड़े का मास्क पहनने से आपको वायरस के खिलाफ ज़्यादा अच्छी सुरक्षा मिल सकती है। दो मास्क पहनने के पीछे का विचार यह है कि यह हवा के कणों से रक्षा कर सकता है जो कि ख़राब फिट के मास्क की वजह से ज्यादातर लोग में सांस के ज़रिए शरीर में प्रवेश कर रहे हैं। दो मास्क मिलकर बेहतर तरीके से इस कणों को रोक सकते हैं। साथ ही, दो मास्क चेहरे पर बेहतर तरीके से फिट हो जाते हैं और 90 प्रतिशत वायरस को दूर रखते हैं।

मास्क को कान के पीछे टाइट करें

मास्क के लूप्स को कानों के पीछे बांधने से वो चेहरे पर फिट हो जाएगा और आपका मुंह और नाक पूरी तरह से सुरक्षित हो जाएगी। अगर मास्क आपके मुंह और नाक पर फिट है, तो वायरस के शरीर में प्रवेश होने के आसार कम हो जाते हैं। अगर आपका मास्क ढीला है, तो दोनों कानों के पीछे उसपर एक गांठ लगा लें।

मास्क फिटर का इस्तेमाल करें

मास्क की फिटिंग को बेहतर बनाने के लिए मास्क फिटर या फिर मास्क के ऊपर नाएलॉन मास्क कवर पहन सकते हैं। मास्क फिटर पहनने हवा अंदर नहीं जाएगी और आप प्रदूषित कणों को सांस के ज़रिए शरीर में पहुंचाने से बचेंगे। दो मास्क के साथ आप फिल्टर मटीरियल क्वालिटी जैसे वैक्युम बैग का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इस तरह आप तीन लेयर पहनेंगे, पहला सर्जिकल मास्क, फिर कपड़ें का मास्क और फिर वैक्युम बैग मटीरियल से बना मास्क।

मास्क पहनते वक्त इन बातों का रखें ख्याल

पहला स्टेप: हाथों को साबुन और पानी से अच्छी तरह धोएं या फिर सैनीटाइज़र से हाथ साफ कर ही मास्क को छुएं। 

दूसरा स्टेप: मास्क की जांच करें कि कहीं वो फटा हुआ या फिर गंदा तो नहीं है।

तीसरा स्टेप: मास्क को चेहरे पर इस तरह पहनें कि चेहरा, मुंह, नाक और ठुड्डी अच्छी तरह से ढक जाएं। कहीं भी हवा जानें के लिए जगह न हो।

मास्क निकालते वक्त इन बातों का ख्याल रखें

पहला स्टेप: हाथों को साबुन-पानी या फिर सैनीटाइज़र से साफ करें और फिर मास्क उतारें।

दूसरा स्टेप: मास्क को कानों या सिर के पीछे स्ट्रेप की मदद से उतारें।

तीसरा स्टेप: अगर मास्क गंदा नहीं हुआ है, तो उसे प्लास्टिक बैग में रखें या फिर उसे साबुन और गर्म पानी से धोएं।

चौथा स्टेप: मास्क उतारने के बाद हाथों को ज़रूर धोएं। 

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here