कृषिउत्पादन मंडी समिति मेअनाज की हो रही दुर्दशा

0
56

बारिश में भीगता रहा कई टन संख्या में गेहूं यहां पर पढ़ा रहा बर्बादी के कगार में गेहूं आखिर जिम्मेदार कौन

संवाददातादिलीप त्रिपाठी

महमूदाबाद सीतापुर स्थानीय कृषि उत्पादन मंडी समिति में जो सरकारी केंद्र खुले हुए हैं उसमें जो किसानों का अनाज खरीदा जा रहा है उस अनाज को स्वछता पूर्वक रखा नहीं जा रहा है बीती रात दिनांक 27-5-2021 को अचानक आंधी तूफान एवं बरसात होने के कारण खुले में पड़े अनाज एवं भरी हुई बोरियों की छल्ली खुले में लगी हुई थी जिसमें न तो कोई सुरक्षा की व्यवस्था थी और अनाज कुछ तो पानी के साथ नालियों में बह गया है उधर भारत सरकार एवं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा स्वच्छ भारत मिशन चलाया जा रहा है

इधर अधिकारी लोग स्वच्छ भारत मिशन की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं कृषिग्रह केंद्र में जसवंत राय एवं संतोष राय द्वारा जो गेहूं क्रय केंद्र खरीदा जा रहा था वह अनाज खुले में पड़ा हुआ था जब मीडिया कर्मी जब पहुंचे तो उसी समय ग्रह केंद्र के कर्मचारीउसीअनाज कोभीगा हुआ बोरियों में भरा जा रहा था यही अनाज को सरकारी कोटेदारों की दुकान पर दिया जाएगा और आम नागरिकों को यही अनाज वितरण किया जाएगा जिसकी मात्रा और खराब हो जाएगी जिससे लोग बीमारी का सामना करना पड़ सकता है सरकार चाहे जो हो कर्मचारी वही है जिनके मुंह में मलाई लगी हुई है वह कैसे छूट सकती है जब तक इन कर्मचारियों के ऊपर शिकंजा नहीं कसा जाएगा तब तक यह कर्मचारी सुधरने वाले नहीं है इसको संज्ञान में लिया जाए आंधी तूफान बरसात होने पर क्यों खुले मैदान में पड़ा रहता है जिससे रात भर के बरसात का पानी बोरियों में समा गया स्वच्छता की धज्जियां इस प्रकार उड़ाई जा रही हैं जिससे कि अनाज गरीब आम आदमी के पास पहुंच जाएगा तो इसकी मात्रा और खराब हो जाएगी ऐसे में यह देखना होगा कि आज प्रशासन क्यों मूकदर्शक बना हुआ क्या प्रशासन द्वारा इसकी औचक की जांच होगी या नहीं कि ऐसे ही कार्य भ्रष्टाचार की चरम सीमा पर विपणन अधिकारी करवाते रहेंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here