झारखंड: एक नाबालिग लड़की के साथ 10 दिन तक बलात्कार किया

0
77

झारखंड में लड़कियों के साथ बढ़ते अपराध पुलिस और कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े कर रहे हैं. चतरा में जहां एक नाबालिग लड़की के साथ 10 दिन तक बलात्कार किया गया. विरोध करने पर आरोपी उसकी पिटाई करते रहे. अब पीड़ित परिवार इंसाफ के लिए पुलिस के चक्कर लगा रहा है. पुलिस ने अभी तक मामला दर्ज नहीं किया है. उधर, खूंटी में एक साथ दो आदिवासी नाबालिग लड़कियों के साथ सामूहिक बलात्कार किए जाने का मामला सामने आया है. आरोपी पुलिस की पहुंच से बाहर हैं.

पहला मामला सूबे के चतरा जिले का है. जहां टंडवा थाना क्षेत्र के सेरनदाग कसीयाडीह गांव में दो युवकों ने गांव की ही एक नाबालिग लड़की को अगवा कर लिया. आरोपी लड़की को एक सुनसान जगह पर ले गए और उसे बंधक बनाकर उसके साथ हर दिन बलात्कार करते रहे. 10 दिन बाद लड़की किसी तरह से आरोपियों के चंगुल से निकलकर अपने घर पहुंची. तब जाकर ये घटना सामने आई.

लड़की परिवार वाले उसे लेकर टंडवा थाने पहुंचे और शिकायत दर्ज कराने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने उनकी एक नहीं सुनी और उन्हें बैरंग लौटा दिया. वे कई दिन तक थाने के चक्कर लगाते रहे. पर पुलिस का दिल नहीं पसीजा. हारकर पीड़ित परिवार बुधवार को अपनी फरियाद लेकर पुलिस कप्तान के पास पहुंचा और आपबीती सुनाई.

पुलिस से निराश हो चुके पीड़ित परिजनों ने ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराई है. जिसका नंबर 615877 है. उन्होंने शिकायत में गांव के दो युवकों उनकी नाबालिग बेटी को अगवा करने और उसके साथ रेप और मारपीट करने का मामला दर्ज कराया है. चतरा के पुलिस अधीक्षक ऋषभ कुमार झा ने कहा कि मेरे संज्ञान में यह मामला आया है. इस मामले में आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी.

खूंटी में 2 आदिवासी नाबालिग लड़कियों से गैंगरेप
उधर, खूंटी में एक साथ दो नाबालिग आदिवासी लड़कियों को अगवा कर उनके साथ सामूहिक बलात्कार किए जाने की घटना सामने आई है. जानकारी के मुताबिक खूंटी शहर में नीचे चौक से दो नाबालिग आदिवासी लड़कियों को चाकू और हथियार के बल पर कुछ लोगों ने जबरन बाइक पर बैठाया और अगवा कर मुरहू थाना क्षेत्र के महिला स्कूल में ले गए. जहां उनके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया.

इ्स दौरान लड़कियों ने आरोपियों से रहम की भीख मांगी, लेकिन उनके सिर पर हवस का भूत सवार था. आरोपियों ने बारी-बारी से दोनों लड़कियों के साथ रेप किया और रात के 2 बजे उन दोनों को इठे गांव के पास सड़क के किनारे छोड़कर भाग गए. बुधवार की सुबह ग्रामीणों की नजर सड़क किनारे बेसुध पड़ी लड़कियों पर पड़ी. पूछताछ करने पर उन्होंने पूरी घटना ग्रामीणों को बताई.

तब ग्रामीण ने पहले उनके परिजनों को फोन कर उनके बारे में बताया और फिर पुलिस को घटना की सूचना दी. जानकारी मिलते ही खूंटी के एसपी आशुतोष शेखर खुद मौके पर पहुंचे और लड़कियों से मामले की जानकारी ली. उन्होंने आरोपियों की धरपकड़ के लिए एसआईटी का गठन किया है. वहीं लड़कियों को मेडिकल के लिये भेजा गया है. मामले की गहनता से छानबीन की जा रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here