टोक्यो जा रहे हमारे खिलाड़ियों ने बचपन में साधनों-संसाधनों की हर कमी का सामना किया: PM MODI

0
93

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने रेडियो कार्यक्रम “मन की बात” में टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे उत्तर प्रदेश के खिलाड़ियों की हौसला अफजाई की. प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में खिलाड़ियों के जीवन संघर्ष और उससे निकल कर इस मुकाम तक पहुंचने की गाथा को सराहा.

उन्होंने कहा कि टोक्यो जा रहे हमारे खिलाड़ियों ने बचपन में साधनों-संसाधनों की हर कमी का सामना किया, लेकिन वो डटे रहे, जुटे रहे. उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर की प्रियंका गोस्वामी जी का जीवन भी बहुत सीख देता है. एक बस कंडक्टर की बेटी प्रियंका में बचपन से ही मेडल के प्रति आकर्षण था जिसने उन्हें रेस वॉकिंग का चैंपियन बनाया.

इसी क्रम में उन्होंने वाराणसी के शिवपाल सिंह का नाम लिया जो जेवलिन थ्रो के खिलाड़ी हैं. शिवपाल का पूरा परिवार ही इस खेल से जुड़ा हुआ है. इनके पिता, चाचा और भाई, सभी भाला फेंकने में पारंगत हैं. पीएम ने कहा कि परिवार की यही परंपरा उनके लिए टोक्यो ओलंपिक में काम आने वाली है.

मुख्यमंत्री योगी ने प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद दिया और कहा कि उन्होंने हमेशा खेलों को बढ़ावा दिया. मुख्यमंत्री ने कहा कि पीएम की प्रेरणा से ही उनकी सरकार ने खेल और खिलाड़ियों को प्रोत्साहन की नीति अपनाई जिससे अनेक खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्धि हासिल की.

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश में तो अधिकांश खिलाड़ी छोटे-छोटे शहरों, कस्बों, गांवों से निकल कर आते हैं. उन्होंने कहा कि जब टैलेंट, डेडिकेशन, डेटर्मिनेशन और स्पोर्ट्समैन स्पिरिट एकसाथ मिलते हैं तब जाकर कोई चैम्पियन बनता है. पीएम ने कहा कि टोक्यो जा रहे हर खिलाड़ी का अपना संघर्ष रहा है. कई साल की मेहनत रही है. वो केवल अपने लिए नहीं जा रहे बल्कि देश के लिए जा रहे हैं. हमें जाने-अनजाने में इन खिलाड़ियों पर दबाव नहीं बनाना, खुले मन से इनका साथ देना है. हर खिलाड़ी का उत्साह बढ़ाना है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here