दुनिया के 11 फीसदी सड़क हादसे भारत में

0
74

नई दिल्ली। राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को देश में बढ़ते सड़क हादसों को लेकर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि दुनिया में होने वाले सड़क दुर्घटनाओं में से 11 फीसदी भारत में होती हैं और यह किसी मूक महामारी से कम नहीं हैं।

सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) के कर्मयोगियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि सड़कों पर होने वाले हादसे हमारे लिए गंभीर चिंता का विषय है। हमारे देश में दुनिया के कुल वाहनों के तीन फीसदी से भी कम वाहन लेकिन देश में हादसे करीब 11 फीसदी है।
हर साल देश में करीब 4.5-5 लाख दुर्घटनाएं होती हैं और दुर्भाग्य से इसमें 1.5 लाख लोग जान गंवाते हैं। इससे निजात पाने के लिए सरकार ने कई कदम उठाएं हैं। इनमें राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा नीति को मंजूरी देने से लेकर मोटर वाहन कानून 2020 को लाना शामिल है। साथ ही राष्ट्रीय हाईवे पर ब्लैक स्पॉट भी पहचाने जा रहे हैं। बीआरओ ने शुक्रवार को कार्य प्रबंधन, सड़क बुनियादी ढांचे का डिजिटलीकरण, मानव संसाधन प्रबंधन और भर्ती प्रबंधन के लिए चार नए साफ्टवेयर लॉन्च किए।

साथ ही रक्षामंत्री ने बीआरओ के दो उत्कृष्टता केंद्रों का उद्घाटन किया। बीआरओ की स्थापना सड़कों, पुलों, सुरंगों आदि के निर्माण को बढ़ावा देने के साथ ही सड़क सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए की गई थी।

अधिकारियों ने बताया कि एक उत्कृष्टता केंद्र देश के पूर्वी और पश्चिमोत्तर हिस्सों में लगभग 60,000 किलोमीटर सड़कों, 56,000 मीटर पुलों, 19 हवाई पट्टियों और चार सुरंगों के विकास के क्त्रस्म में बीआरओ को मिले अनुभव को संस्थागत रूप देगा। दोनों केंद्र राष्ट्रीय राजधानी में बीआरओ मुख्यालय में स्थापित किए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here