पहले वनडे मैच में मिली हार के जिम्मेदार बल्लेबाज: मिताली राज

0
175

भारतीय महिला टीम ने इंग्लैंड के विरुद्ध खेले गए पहले एकदिवसीय मैच में निराशाजनक प्रदर्शन किया। टीम इंडिया इस मुकाबले में सिर्फ 201 रन ही बना पाई। भारत की तरफ सबसे ज्यादा 77 रन मिताली राज ने बनाए। इंग्लैंड की महिला टीम ने भारत द्वारा दिए गए 202 रनों के लक्ष्य को 35 ओवर में हासिल कर लिया। ब्रिस्टल में खेले गए इस मैच में भारतीय महिला टीम को 8 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। शेफाली वर्मा को अगर छोड़ दिया जाए तो किसी भी भारतीय महिला बल्लेबाज का स्ट्राइक रेट 100 प्रतिशत का नहीं रहा।

मिताली राज ने भारत को पहले वनडे में मिली हार के लिए बल्लेबाजी और गेंदबाजी को जिम्मेदार ठहराया। इस जीत के साथ ही इंग्लैंड की महिला टीम ने तीन एकदिवसीय मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली। भारतीय महिला बल्लेबाजों ने मुकाबले में 181 डॉट बॉल खेले जिसके चलते टीम 201 रन ही बना सकी।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बात करते हुए मिताली ने कहा, हां, हमें इस संदर्भ में स्ट्राइक बदलते रहना होगा। हमारे लिए जरूरी है कि हमारे शीर्ष पांच बल्लेबाज रन बनाएं। हमें ये भी समझने की जरूरत है कि इंग्लैंड की तेज गेंदबाज काफी अनुभवी हैं। वे बेहतर तरीके से जानती हैं कि उन्हें इन परिस्थितियों में कैसे गेंदबाजी करना है।

मिताली ने यह भी कहा कि समय आ गया है कि भारतीय महिला टीम भविष्य के लिए युवा तेज गेंदबाजों को तैयार करके झूलन गोस्वामी को लंबे समय तक सेवा देने और अधिक जिम्मेदारी से अलग सोचें। उन्होंने कहा कि हमारे तेज गेंदबाजों ने अच्छी बॉलिंग नहीं की। उन्होंने आगे कहा, हम जल्दी विकेट लेकर इंग्लैंड पर दवाब बना सकते थे।

मिताली के मुताबिक, इसलिए हमको झूलन की अपेक्षा अपने तेज गेंदबाजों को तरासना होगा, उन्हें ये भी समझना और सीखना चाहिए कि इंग्लैंड की परिस्थितियों में गेंदबाजी कैसे की जाए। टीम इंडिया की कप्तान मिताली राज ने इस मुकाबले में धैर्यपूर्वक पारी खेलते हुए 108 गेंदों पर 72 रन बनाए थे। जबकि शेफाली वर्मा ने 15 और स्मृति मंधाना ने 10 रन बनाकर आउट हुईं।

वहीं टीम इंडिया की बल्लेबाजी पर बात करते हुए मिताली ने कहा, हमें जरूरी मौकों पर तेज बल्लेबाजी करने की जरूरत है, हमने बीते कुछ समय से टारगेट सेट करने के बजाय उसे पीछा करते हुए आराम से हासिल किया है। हमें इस पर काम करना होगा, हमें यह जानने की जरूरत है कि 250 तक के स्कोर तक कैसे पहुंचें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here