भारत ने की आतंकवादियों द्वारा इंटरनेट के दुरूपयोग पर NIA द्वारा आयोजित ब्रिक्स सम्मेलन की मेजबानी

0
5

नई दिल्ली। आतंकवादियों द्वारा इंटरनेट के दुरुपयोग को देखते हुए, राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने इस मुद्दे पर दो दिवसीय ब्रिक्स सेमिनार का आयोजन किया। इस सेमिनार (संगोष्ठी) के दौरान सार्वजनिक और निजी दोनों क्षेत्रों के कई हितधारकों ने आतंकवादियों द्वारा इंटरनेट के दुरुपयोग से निपटने पर चर्चा की। उन्होंने आतंकवादियों द्वारा उनकी नापाक गतिविधियों को अंजाम देने के लिए इंटरनेट के दुरुपयोग से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए अंतराष्र्ट्ीय सहयोग को बढ़ाने पर व्यापक चर्चा की।

एनआईए के एक प्रवक्ता ने कहा कि ‘आतंकवाद के लिए इंटरनेट का दुरुपयोग और आतंकवादी जांच में डिजिटल फॉरेंसिक की भूमिका’ विषय पर दो दिवसीय सेमिनार का आयोजन आतंकवाद विरोधी जांच एजेंसी द्वारा 13-14 अप्रैल को वर्चुअल मोड के माध्यम से किया गया।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी 13-14 अप्रैल को ब्रिक्स देशों का दो दिवसीय सम्मेलन का आयोजन किया, जिसमें ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका शामिल हैं।

सेमिनार का उद्घाटन केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला ने किया।

बयान में कहा गया है कि इस सम्मेलन का आयोजन एनआईए ने किया, क्योंकि भारत 2021 के लिए ब्रिक्स की अध्यक्षता कर रहा है।

इस दौरान इस बात पर जोर दिया गया कि केवल अंतर्राष्ट्रीय सहयोग पर आधारित उपायों और निर्वाध रूप से अच्छी पहल एवं अनुभवों को साझा करके इससे निपटा जा सकता है।

इस सेमिनार में पांच सदस्य देशों के 40 विशेषज्ञों ने विभिन्न तकनीकी सत्रों पर विचार-विमर्श किया, जिनमें सोशल मीडिया के दोहन, डार्क वेब एवं अनाम सूचना सामग्री (डार्क वेब एंड एनोनिमाइजर), उभरती प्रौद्योगिकी एवं कृत्रिम बुद्धिमत्ता, क्रिप्टो करेंसी और वर्चुअल एसेट्स एवं डिजिटल फारेंसिक आदि शामिल रहे।

बयान के अनुसार, सम्मेलन में सहभागियों ने आतंकवादियों द्वारा इंटरनेट के दुरुपयोग की रोकथाम, नियंत्रण और अभियोजन से संबंधित चुनौतियों को रेखांकित किया और इस संबंध में वर्तमान प्रौद्योगिकी नवोन्मेष और उभरते डिजिटल परि²श्य की प्रशंसा भी की। प्रवक्ता ने यह भी कहा कि हम इस सहयोग के साथ ब्रिक्स सदस्य देशों सहित पूरी दुनिया के नागरिकों के लिए एक सुरक्षित माहौल का सृजन कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here