भारत में जल्द मिल सकती है मंजूरी, कोरोना से लड़ने में लगभग 92% कारगर पाई गई ये वैक्सीन

0
74

मॉस्को। कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में एक और कामयाबी हाथ लगी है। रूसी वैक्सीन स्पुतनिक वी(Sputnik V) कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में करीब 92 फीसद कारगर पाई है। वैज्ञानिकों ने द लैंसेट इंटरनेशनल मेडिकल जर्नल में प्रकाशित लेख में बताया है कि वैक्सीन के तीसरे और आखिरी चरण के ट्रायल के परिणाम में ये वैक्सीन COVID-19 से लड़ने में लगभग 92% प्रभावी पाई गई है।

विशेषज्ञों ने कहा कि तीसरे चरण के परीक्षण के परिणामों का मतलब है कि दुनिया के पास घातक महामारी से लड़ने के लिए एक और प्रभावी हथियार मौजूद है और इससे ये बात साबित हो जाती है कि आखिरी आंकड़ों के जारी होने से पहले वैक्सीन को इस्तेमाल की मंजूरी देना सही फैसला था। 

मॉस्को में गेमालेया संस्थान द्वारा टीके विकसित और परीक्षण किए गए परिणाम परीक्षण के पहले चरणों में बताई गई प्रभावकारिता के आंकड़ों के अनुरूप थे, जो सितंबर से मॉस्को में चल रहा है। इयान जोन्स, रीडिंग यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर और पॉली रॉय, लंदन स्कूल ऑफ हाइजीन एंड ट्रॉपिकल मेडिसिन के प्रोफेसर, ने कहा कि स्पुतनिक वैक्सीन के विकास की आलोचना अनजाने में जल्दबाजी, कोने की कटाई और पारदर्शिता की अनुपस्थिति के लिए की गई है।

19,866 वॉलेंटियर के डेटा को प्रभावकारिता विश्लेषण में शामिल किया गया था। जिनमें से 14,964 लोगों को वैक्सीन और 4,902 को प्लेसबो दिया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here