मेरठ में होने वाली मतगणना में कोरोना एक चुनौती, कैसे होगी 2500 कर्मियों की व्यवस्था

0
30

मेरठ। मतदान की व्यवस्था को प्रभावित करने वाला कोरोना संक्रमण अब मतगणना की तैयारियों में भी चुनौती बनकर सामने आएगा। मतगणना के लिए जनपद के सभी 12 ब्लाकों में लगभग 2500 कर्मचारियों की जरूरत होगी। इनकी व्यवस्‍था करने में अधिकारी जुट गए हैं। बुधवार तक ड्यटियां जारी करके 30 अथवा 31 अप्रैल को मतगणना का प्रशिक्षण पूरा कर लिए जाने का लक्ष्य रखा गया है।

हर कोई खौफ में

पंचायत चुनाव की मतगणना ब्लाकों पर ही होगी। कुल 12 ब्लाकों के लिए ब्लाक मुख्यालयों पर ही विभिन्न भवनों में स्ट्रांग रूम बनाए गए हैं। वहीं से पोङ्क्षलग पार्टियां रवाना की गई थी अब नहीं पर मतगणना भी कराई जाएगी। लेकिन मतदान केबाद अब मतगणना के लिए कार्मिकों की व्यवस्था करना जिला प्रशासन के लिए सरल काम नहीं होगा। तेजी से फैल रहे कोरोना संक्रमण से हर कोई खौफ में है।

संख्‍या कम न रहे

मतगणना के लिए लगभग 2500 कार्मिकों की जरूरत होगी। कोरोना संक्रमण के फैलाव को देखते हुए अधिकारी इस बार ज्यादा से ज्यादा कर्मचारियों की ड्यूटी जारी करने तथा उन्हें प्रशिक्षण देने की तैयारी कर रहे हैं। ताकि इस बार मौके पर कर्मचारियों की संख्या कम न रह सके। अपर जिलाधिकारी प्रशासन मदन सिंह गब्र्याल ने बताया कि 30 अथवा 31 अप्रैल को इन कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिला दिया जाएगा। उन्होने बताया कि प्रत्येक ब्लाक में प्रत्येक न्याय पंचायत के लिए दो दो टेबल लगाई जाएंगी। कर्मचारी दो शिफ्ट में लगाए जाएंगे ताकि 24 घंटे के भीतर मतगणना का कार्य पूरा किया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here