यूपी में अब गैंगस्टर विकास दुबे और प्रकाश शुक्ला की प्रतिमा! ब्राह्मण महासभा के अध्यक्ष ने कहा- वे ब्राह्मण समाज के लिए प्रेरणा है

0
103

Highlights ब्राह्मण महासभा के अध्यक्ष ने कहा कि विकास दुबे और प्रकाश शुक्ल की भी प्रतिमा बननी चाहिए वे दोनों ब्राह्मण समाज के लिए महान और प्रेरणा के स्त्रोत है विकास दुबे 2020 में एक मुठभेड़ में मार गया था

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के राजनीतिक दलों द्वारा आगामी चुनाव जीतने के लिए हर जोर आजमाइश की जा रही है । अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा के अध्यक्ष राजेंद्र नाथ त्रिपाठी ने कहा कि अगर फूलन देवी की मूर्ति स्थापित की जा सकती है तो विकास दुबे और श्री प्रकाश शुक्ल जैसे ब्राह्मणों की भी प्रतिमा स्थापित की जानी चाहिए । वे हमारे समाज के महापुरुष थे । त्रिपाठी ने यह बयान कानपुर के बरवा खुर्द गांव में भगवान परशुराम और शिव मंदिर की स्थापना के लिए भूमि पूजन और शिलान्यास कार्यक्रम के दौरान कहीं।

विकास दुबे और प्रकाश शुक्ल की प्रतिमा की स्थापना

उन्होंने कहा कि अगर फूलन देवी और ददुआ जैसे डकैतों की मूर्ति स्थापित की जा सकती है तो हम विकास दुबे और प्रकाश शुक्ल की प्रतिमा क्यों नहीं स्थापित कर सकते हैं , जो ब्राह्मण समाज के लिए महान और प्रेरणा के स्त्रोत है । साथ ही उन्होंने इस मुद्दे पर ब्राह्मण समाज को इसका समर्थन करने का आग्रह किया ।

आपको बता दें कि विकास दुबे की 2020 में कानपुर में मुठभेड़ में मौत हो गई थी । वही शुक्ल को 1998 में गाजियाबाद में यूपी एसटीएफ ने गोली मार दी थी। कहा जाता है कि प्रकाश शुक्ला ने कल्याण सिंह को मारने का ठेका लिया था।

पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह को मारने के लिए ली थी सुपारी

यूपी के गोरखपुर सबसे खूंखार गैंगस्टरों में से एक प्रकाश ने उत्तर प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की हत्या के लिए कथित तौर पर 6 करोड़ रुपए का ठेका लिया था । आपको बता दें कि विकास दुबे के एनकाउंटर को लेकर कई ब्राह्मण नेता योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार से नाखुश है । ब्राह्मणों को खुश करने के लिए सरकार भी कई तरह के प्रपंच अपना रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here