राष्ट्रपति करेंगे उद्घाटन, आगे बढ़ते उत्तर प्रदेश की तस्वीर दिखाएगा

0
133

वाराणसी। दैनिक जागरण की ओर से 15 मार्च को वाराणसी में जागरण फोरम का आयोजन किया जा रहा है। आयोजन में राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द गंगा, पर्यावरण और भारतीय संस्कृति पर अपने विचार रखेंगे। इस दौरान रिवाज, मिजाज, ओडीओपी, खेती और कनेक्टिविटी आदि बिंदुओं पर विभिन्‍न सत्रों में चर्चा होगी।

बनारस के साथ ही पूर्वांचल का समूचा इलाका धर्म- अध्यात्म, साहित्य-संस्कृति के साथ शिक्षा और श्रम साधना के लिए भी जाना जाता है। इन सबसे ही प्रदेश के इस हिस्से का देश- दुनिया में लोहा माना जाता है। हाल के वर्षों में अपनी थाती को दीया-बाती की तरह दैदीप्यमान करने का अभियान आसमान छू रहा है। विकास के पथ पर दौड़ते प्रदेश के पूर्वी हिस्से की इंद्रधनुषी तस्वीर दैनिक जागरण की ओर 15 मार्च को आयोजित फोरम में नजर आएगी। होटल ताज में राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द सुबह 11 बजे इसका उद्घाटन करेंगे। ‘गंगा, पर्यावरण और भारतीय संस्कृति’ विषय पर संबोधित भी करेंगे। फोरम के चार सत्रों में पूरे पूर्वांचल के साथ ही प्रयागराज भी नजर आएगा।

इसमें ‘उत्तर प्रदेश के विकास में वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट (ओडीओपी) की भूमिका’ पर विशेषज्ञों व अफसरों के बीच मंथन होगा। ‘खेतों में उतरता विज्ञान’ सत्र गर्व से सिर ऊंचा करने का अवसर उपलब्ध कराएगा। विकास को रफ्तार देने के लिए उभरता ‘कनेक्टिविटी का नया मैप’ सुदृढ़ आवागमन की दिशा में किए जा रहे प्रयासों से रूबरू कराएगा। इसमें फ्रेट कॉरिडोर, जल परिवहन और पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का अक्स उभर कर सामने आ जाएगा। बनारस का जिक्र आए तो भला ‘रिवाज और मिजाज’ का जिक्र कैसे रह जाएगा। फोरम ‘श्रीकाशी विश्वनाथ कॉरीडोर की संकल्पना, निर्माण और परिणाम’ का भी दर्शन कराएगा। श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर कार्यपालक समिति के अध्यक्ष मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल इसका पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन करेंगे। इस दौरान गांव-गलियों में हस्त शिल्प को सहेजने वाले हस्त शिल्पियों और विकासशील किसानों को भी सम्मानित किया जाएगा। समापन सत्र में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ फोरम को संबोधित करेंगे।  कार्यक्रम की रूपरेखाउद्घाटन सत्र : बह दस बजे नदेसर स्थित ताज होटल के दरबार हाल में राष्‍ट्रपति का आगमन और राष्‍ट्रगान। 10.12 बजे से राष्‍ट्रपति राम नाथ कोविन्‍द का संबोधन और 11 बजे राष्‍ट्रपति का प्रस्‍थान। प्रथम सत्र : सूचना प्रोद्यौगिकी की दशा-दिशा और संभावनाओं पर केंद्रीय कानून, सूचना प्रोद्यौगिकी और दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद का संबोधन और बनारस पर संवाद। दूसरा सत्र : उत्‍तर प्रदेश के विकास में वन डिस्ट्रिक्‍ट वन प्रोडक्‍ट (ओडीओपी) की भूमिका पर अपर मुख्‍य सचिव एमएसएमई नवनीत सहगल का संबोधन। तीसरा सत्र : खेतों में उतरता विज्ञान विषय पर डा. जगदीश सिंह, निदेशक सब्‍जी अनुसंधान संस्‍थान का संबोधन। चौथा सत्र : कनेक्टिविटी का नया मैप पर अवनीश अवस्‍थी मुख्‍य कार्यकारी अध्‍यक्ष उत्‍तर प्रदेश एक्‍सप्रेस वेज औद्योगिक विकास प्राधिकरण का संबोधन। पांचवां सत्र : श्री काशी विश्‍वनाथ कॉरीडोर : संक‍ल्‍पना निर्माण और परिणाम पर कमिश्‍नर दीपक अग्रवाल का संबोधन। समापन सत्र : मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ का संबोधन।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here