लखनऊ में लूट के बाद पीड़ित के बेटे ने Google की मदद से ढूंढ न‍िकाला मोबाइल फोन,

0
67

लखनऊ। बुधवार शाम पीजीआई थाना क्षेत्र शहीद पथ सर्विस लाइन साउथ सिटी स्थित अभिषेक मंशानी की जय नारायण नाम से सरिया सीमेंट की दुकान है। बुधवार शाम को वह दुकान शटर बंद कर जैसे ही पीछे मुड़े तभी एक बाइक में तीन नकाबपोश लुटेरों ने उनके ऊपर असलहा तान दिया और नोटों से भरा बैग मोबाइल फोन लेकर फरार हो गए। 24 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस अभी तक सुराग नहीं लगा पाई । पीड़ित के बेटे ने गूगल के जरिए लूटा हुआ मोबाइल मात्र एक घंटे में ढूंढ निकाला।

पीड़ित अभिषेक मंसानी ने बताया कि मेरा मोबाइल जब से लुटेरे लेकर निकले थे उसके बाद से फोन ऑन था और बेल जा रही थी। मुझे अनुमान था जरूर लुटेरों ने मेरे मोबाइल फोन को कहीं फेंक दिया है। बृहस्पतिवार सुबह बेटे ने गूगल द्वारा प्रयास किया तो उसने घटनास्थल से 500 मीटर दूर एल्डिको रोड पर एक खाली प्लाट में मोबाइल पढ़ा म‍िला।  वहीं अभी तक पुलिस सीसी कैमरे में कैद लुटेरों का सुराग नहीं लगा पाई । ढाई साल पहले टप्पेबजों ने इसी दुकान से 200000 नकदी गल्ले से लेकर फरार हो गए थे। यह घटना भी सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई थी। इंस्पेक्टर पीजीआई आशीष कुमार द्विवेदी ने बताया कि सीसीटीवी के आधार पर लुटेरों की तलाश की जा रही है जल्द खुलासा होगा।

गौरतलब है क‍ि रायबरेली रोड पर साउथ सिटी में बुधवार रात बाइक सवार बदमाशों ने ट्रेडर्स व्यवसायी अभिषेक कुमार का रुपयों से भरा बैग और मोबाइल लूट लिया। पुलिस अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उनकी तलाश में दबिश दे रही है। अभिषेक कुमार की साउथ सिटी में राज नारायण ट्रेडर्स के नाम से दुकान है। बुधवार रात वह दुकान बंद कर बाहर खड़े थे। इसी बीच बाइक सवार तीन युवक पहुंचे और उन्होंने झपट्टा मार कर बैग और मोबाइल लूट लिया। शोर सुनकर जबतक आस पड़ोस के लोग दौड़े, तबतक बदमाश भाग निकले। पीडि़त ने कंट्रोल रूम को सूचना दी। पीडि़त ने पुलिस को बताया कि बैग में दुकानदारी के 50 हजार रुपये थे। इंस्पेक्टर आशीष द्विवेदी ने बताया कि बदमाशों की सुरागरसी के लिए घटनास्थल के आस पास लगे सीसी कैमरे खंगाले जा रहे हैं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here