वायरस को हराने के लिए जीत का टीका लगाया

0
64

भारत में कोरोना वायरस को हराने के लिए जीत का टीका लगाया जा रहा है, टीकाकरण अभियान हर राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों में लगातार जारी है। देश में फिलहाल 3 कोरोना टीको से यह अभियान चलाया जा रहा है- कोविशील्ड, कोवैक्सिन और स्पूतनिक वी। बता दें कि केंद्र द्वारा निर्धारित लक्ष्यों के मुताबिक अगर भारत को दिसंबर तक अपने सभी व्यस्कों को वैक्सीन लगानी है तो भारत बायोटेक को कोवैक्सिन के उत्पातन में सुधार करना होगा और सप्लाई बढ़ानी होगी।

वैक्सीनेशन की रफ्तार को बढ़ाने कि कोशिश में लगी केंद्र सरकार कोवैक्सिन की सप्लाई में हो रही देरी को देखते हुए वैक्सीन निर्माता भारत बायोटेक से चर्चा करेगी। भारत बायोटेक को सप्लाई करने के अब तक जो टारगेट मिले थे कंपनी उन्हें पूरा करने में भी नाकाम रही है। अब सरकार इस मामले पर कंपनी चर्चा करने वाली है। केंद्र सरकार के वैक्सीन उपलब्धता प्रोजेक्ट के आधार पर भारत बायोटेक को अगस्त से दिसंबर के बीच 40 करोड़ टीके सप्लाई करने हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक, भारत बायोटेक अपनी सप्लाई को पूरा करेंगे। स्वास्थ्य सचिव ने व्यक्तिगत रूप से इस मामले की समीक्षा की है।”

कंपनी ने हाल ही में कहा था कि भारत बायोटेक इस साल कम से कम अगस्त तक अपने कोवैक्सिन वैक्सीन की 2.5 करोड़ खुराक का उत्पादन जारी रखेगी, “लेकिन साल के अंत तक 6-7 करोड़ खुराक का उत्पादन करने की उम्मीद है।” मौजूदा उत्पादन क्षमता प्रति माह 2.5 करोड़ खुराक है और इस साल अगस्त-सितंबर तक इसे बनाए रखने की संभावना है, जिसके बाद और सप्लाई होगी। अगले दो महीनों में अंकलेश्वर, गुजरात और बेंगलुरु, कर्नाटक में अपनी 2 सुविधाओं में उत्पादन शुरू करेंगे। इन सुविधाओं को फिर से तैयार किया जा रहा है और अगले 2 महीनों में उत्पादन शुरू होने की संभावना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here