संत रविदास की जयंती पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में दी पुष्पांजलि

0
92

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज यानी 27 फरवरी को संत रविदास जयंती तथा माघी पूर्णिमा पर्व पर प्रदेश तथा देश के लोगों को बधाई दी है। इसके साथ ही उन्होंने आज ही भारत के स्वाधीनता संग्राम के नायक चंद्रशेखर आजाद के बलिदान दिवस तथा महान समाजसेवी नानाजी देशमुख की पुण्य तिथि पर उनको नमन किया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज संत रविदास जयंती के अवसर पर प्रदेशवासियों को हाॢदक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में कोविड-19 के प्रोटोकॉल व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि महान संत, अद्भुत समाज-सुधारक, अनुपमेय रचनाकार संत शिरोमणि गुरु रविदास जी को उनकी जयंती पर कोटिश: नमन। ‘मन चंगा तो कठौती में गंगा’ जैसे निर्मल दर्शन के माध्यम से समाज को आडंबरमुक्त एवं समरस बनाने की प्रेरणा देने वाले गुरु रविदास जी के विचार हम सभी के लिए प्रेरणाप्रद हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि माघी पूर्णिमा के पावन अवसर पर प्रदेशवासियों एवं माघ मेले में स्नान के लिए देश-विदेश से पधारे संत-महात्माओं, श्रद्धालुओं एवं कल्पवासियों को हाॢदक शुभकामनाएं। तीर्थराज प्रयाग में इस दिन स्नान, दान एवं यज्ञ का विशेष महत्व है। कल्पवासियों के लिये यह तिथि एक विशेष पर्व है। इसे सुचारू रूप से सम्पन्न कराने के लिए राज्य सरकार ने सुविधा एवं सुरक्षा के साथ ही समस्त आवश्यक प्रबन्ध सुनिश्चित कर रखे हैं।

महान स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आजाद के बलिदान दिवस पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने उनको नमन किया। उन्होंने कहा कि भारतीय स्वाधीनता संग्राम के तेजस्वी हस्ताक्षर, महान क्रांतिकारी, देशप्रेम के अद्भुत प्रतीक, काकोरी घटना के महानायक, अमर बलिदानी चंद्रशेखर आजाद जी को उनके बलिदान दिवस पर कोटि-कोटि श्रद्धांजलि। आपका बलिदान युगों-युगों तक हम सभी के मन में राष्ट्र प्रेम की लौ प्रज्ज्वलित करता रहेगा।

महान समाजसेवी नानाजी देशमुख की पुण्य तिथि पर आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनको नमन किया है। उन्होंने कहा कि महान समाजसेवी, ‘सादा जीवन, उच्च विचार’ की भावना की प्रतिमूॢत, ‘ग्रामोदय से राष्ट्रोदयÓकी संकल्पना के प्रणेता, भारत रत्न, राष्ट्रऋषि श्रद्धेय नानाजी देशमुख को उनकी पुण्यतिथि पर मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि। स्वावलंबी समाज के निर्माण के लिए आपके विचार हमारे लिए पथ प्रदर्शक हैं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here