100 से अधिक बाजारों में किया जाएगा विरोध, दिल्ली में खुलीं 2 लाख फैक्ट्रियां

0
29

नई दिल्ली। वस्तु एवं सेवाकर में मौजूदा प्रावधानों के विरोध में व्यापारिक संगठनों का दिल्ली-एनसीआर समेत देशभर में भारत बंद शुरू हो गया है। वहीं, इस भारत बंद का दिल्ली-एनसीआर में भी आंशिक रूप से दिखाई दे रहा है। इसके पीछे वजह यह है कि दिल्ली के अधिकतर कारोबारी संगठनों ने इस बंद से दूरी बनाने का निर्णय लिया है। इसकी जगह दिल्ली के बाजार सांकेतिक विरोध प्रदर्शन करेंगे। शुक्रवार सुबह से दिल्ली-एनसीआर में कहीं से भी जबरन व्यापारिक प्रतिष्ठानों को बंद कराने की सूचना नहीं मिली है।

Bharat Bandh LIVE Update:

उधर, कारोबारी संगठन कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट)  के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल का कहना है कि भारत बंद का दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे भारत में असर दिखाई देगा। बात दें कि कारोबारी संगठन कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने शुक्रवार को इस बंद का आह्वान किया है।सी.आर.एम क्या है? इसका प्रयोग क्यों करें? सेल्सफोर्स सी.आर.एम् के प्रयोग से कंपनियों की बिक्री में 38% वृद्धि हुई है। जानें कैसे।

उधर, नागपुर में कैट के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में इस निर्णय को लेकर शुरू से ही दिल्ली के कारोबारी संगठनों में उहापोह की स्थिति देखने को मिली रही है।

फैक्ट्रियां रहेंगी खुलीं

महापंचायत में 28 औद्योगिक क्षेत्रों के फैक्ट्री मालिकों ने भी हिस्सा लिया और फैसला किया कि शुक्रवार को भारत बंद के बाजवूद दो लाख फैक्ट्रियां खुली रहेंगी। वहीं, सीटीआइ के महासचिव विष्णु भार्गव और रमेश आहूजा ने बताया कि महापंचायत में होटल, बैंक्वेट, रेस्त्रां, ट्रान्सपोर्ट एसोसिएशन्स के साथ- साथ महिला कारोबारियों ने भी हिस्सा लिया। बृजेश गोयल ने बताया कि शुक्रवार को 100 से अधिक बाजारों में जीएसटी के मौजूदा प्रावधानों का विरोध किया जाएगा।

इसके पहले भारतीय उद्योग व्यापार मंडल की बुधवार देर रात तक चली बैठक में 26 फरवरी को दिल्ली की सभी बाजार खोले रखने का निर्णय लिया गया था। फेडरेशन ऑफ सदर बाजार ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश यादव ने बताया कि बैठक में व्यापारी व्यापारी नेताओं ने यह फैसला लिया कि जीएसटी में विसंगतियों को दूर करने के लिए भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के पदाधिकारी वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर से मिलकर उन ज्ञापन देंगे। उधर, कनाट प्लेस व खान मार्केट समेत नई दिल्ली क्षेत्र के बाजारों के कारोबारी संगठनों ने भी बंद से दूरी बनाने का फैसला लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here